गति क्या है ?


What is Motion ?
यदि किसी वस्तु या पिण्ड की स्थिति किसी स्थिर बिन्दु के सापेक्ष लगातार परिवर्तित होती है , तो कहा जाता है कि वस्तु अथवा पिण्ड गति की अवस्था में है ।

* पिण्ड की स्थिति का वर्णन :-
किसी वस्तु की स्थिति का वर्णन निम्न दो पदों में पूर्ण होता है-
(अ) किसी निश्चित बिन्दु के सापेक्ष वस्तु की दूरी ।
(ब) वस्तु की निश्चित बिन्दु के सापेक्ष दिशा ।

दिशा को उस वस्तु की दूरी से व्यक्त किया जाता है जो वस्तु को निश्चित बिन्दु से मिलने वाली रेखा तथा किसी स्थिर अक्ष (x-अक्ष) के मध्य बनता है ।
गति क्या है ?

जैसा कि चित्र में दिखाया गया है कि वस्तु A स्थिर बिन्दु O के सापेक्ष 5 मीटर की दूरी पर तथा पूर्व से उत्तर की ओर 30° के कोण पर स्थित है ।

* गति के प्रकार (Types of motion ) :-
गतियाँ विभिन्न प्रकार की होती हैं -
Motions are of different types :

* ऋजुरेखीय या रैखिक गति :-
" Translatory motion "
यदि कोई वस्तु एक सरल रेखा में गति करती है तो इसे ऋजुरेखीय गति कहते हैं । 

उदाहरण :-
सीधी सड़क पर दौडती हुई कार की गति एक ऋजुरेखीय गति है ।

* वक्ररेखीय या वृत्तीय गति :-
"Circular Motion"
यदि वस्तु एक वक्र रेखा में गति करती है तो इसे वक्ररेखीय गति कहते हैं ।

उदाहरण :-
 मोड़ पर किसी सवार की गति एक वक्ररेखीय गति है ।  

* दोलन गति :-
"Oscillatory Motion"
जब कोई पिण्ड एक निश्चित बिन्दु के इधर - उधर एक ही पथ पर गति करता है तो यह दोलन गति कहलाती है ।

उदाहरण :-
दीवार घड़ी में दोलन गति होती है ।

* अनियमित गति :-
"Random Motion"
  जब कोई वस्तु गति करते हुए अपनी दिशा को निरन्तर बदलती रहती है तब उस गति को अनियमित गति कहते हैं ।

उदाहरण :-
फूलों पर मँडराती हुई तितलियों की गति अनियमित गति है ।

इस अध्याय के अन्य टॉपिक नीचे पढ़ें :
गति क्या है ?

गति क्या है ? गति क्या है ? Reviewed by suresh kumar gautam on August 11, 2017 Rating: 5

No comments

Featured